किडनी बचाव के उपाय: ऐसे करें खराब किडनी का इलाज

किडनी बचाव के उपाय: ऐसे करें खराब किडनी का इलाज

वैसे आप सभी ने कभी ना कभी ये कहावत तो ज़रूर सुनी होंगी ‘Prevention is better than cure’ ये कहावत किडनी के संबंध मे एक दम सटीक बैठती है।

क्यों की किडनी बचाव के उपाय इस लिए ज़रूरी हो जाते हैं ताकी समय पर इस का इलाज नहीं किया गया, तो परिणाम गंभीर हो सकते हैं।

किडनी फेल्योर से पीड़ित सिर्फ 5-10% मरीज ही डायालिसिस और किडनी प्रत्यारोपण का खर्च उठा पाते हैं।

बाकि 90-95% मरीजो के पास सामान्य उपचार जितना ही पैसा होता है ऐसे मे इन मरीजों के पास किडनी बचाव के उपाय अपना ना ही एक मात्र मार्ग रह जाता हैं।

वैसे भी किसी भी रोग और बचाव से संबंधित जानकारी का होना प्रत्येक व्यक्ति को होना चाहिए इस लिए इस लेख को पुरा और अंत तक ज़रूर पढ़े ताकि सभी को किडनी बचाव के उपाय से संबंधित सभी जानकारी मिल पाए।

किडनी बचाव के 8 उपाय

किडनी बचाव के उपाय मे धूम्रपान, तंबाकू और शराब का इस्तेमाल ना करें

धूम्रपान, इस से आप के किडनी की कार्यक्षमता सुस्त हो जाती है साथ ही इसका सीधा असर फेफड़ों पर होता हैं ये इतना घातक होता है की इस से किडनी काम करना बंद भी कर सकती हैं।

तम्बाकू या गुटखा खाने से शरीर मे मौजूद खून की नलियां सिकुड़ने लगती हैं बहोत से मामलों मे ये ब्लॉक भी होने लगती हैं। जिससे विषैले तत्व बाहर नही निकल पाते और मूत्र में प्रोटीन की मात्रा मे बिगाड़ पैदा होने के कारण किडनी खराब हो सकती है। 

शराब मे एसिड की अधिक मात्रा होने के कारण किडनी धीरे-धीरे डैमेज होना शुरू हो जाती है। लगातार सेवन से शरीर इस मे मौजूद एसिड मूत्र द्वारा बाहर निकलता है जो किडनी को खराब कर देता है।

इन तीनों चीजों से दूर रहना ही किडनी बचाव का सबसे अच्छा उपाय है।

किडनी बचाव के उपाय मे दर्द निवारक दवाई या गोलिया ना ले

वैसे आप ने ये कहावत तो ज़रूर सुनी होंगी 'पेनकिलर मतलब किडनी किलर' वैसे ये कहावत नही बल्कि हकीकत है क्यों की जब आप पेन किलर दवाई लेते है तब इस का सीधा असर किडनी पर पड़ता है।

बदन दर्द,सिर दर्द या जोड़ों के दर्द के लिए ली जाने वाली दवाई जैसे आईब्यूप्रोफेन, डायक्लोफेनिक, नेपरोसिन, आदि किडनी को क्षति पहुँचाते है और इस के रोज़ इस्तेमाल से किडनी खराब भी हो सकती है।

इस लिए किडनी बचाव के उपाय मे ये ज़रूरी हो जाता है की कोई भी दवाई या गोली बिना डॉक्टर के परामर्श के हरगिज़ ना ले अन्यथा आप की किडनी खराब हो सकती हैं।

संतुलित आहार किडनी बचाव के उपाय मे है ज़रूरी

संतुलित आहार आप के किडनी के साथ साथ आप के शरीर के लिए भी काफी फायदे मंद होता है अपने आहार मे हरि सब्जियां, फल, दाले, अनाज, सलाद और अंकुरित अनाज शामिल करे।

इन चीजों का सेवन कम करे तेल, दूध या दही से बने पधार्थ, खट्टे पदार्थ, ज़्यादा नमक और मसाले दार चीजें।

इन चीजों का सेवन ना करे बेकरी प्रोडक्ट, पास्ता, नूडल्स, शहेद, नॉन वेज और पेय पधार्थ जैसे पेप्सी, कोकोला, थम्सअप वगैरह ये चीज़े आप की किडनी को नुकसान पहुँचा सकती है।

ब्लड शुगर पर नियंत्रण से किडनी बचाव के उपाय

खून मे ग्लूकोज का लेवल बढजाने से डायबिटीज होने का खतरा रहता है इसलिए ब्लड शुगर को हमेशा नियंत्रित रखे।

मधुमेह के रोग मे किडनी की छोटी रक्त वाहिकाओं को काफी नुकसान होता है जिस से रक्त साफ करने की प्रक्रिया धीमी हो जाती है।

इतना ही नही मधुमेह मे पेशाब मे प्रोटीन की मात्रा अधिक दिखाई देती है। जिसके फलस्वरूप शरीर में सूजन जैसे लक्षण दिखाई देते है जो अंत मे किडनी खराब करने वाले लक्षण बन सकते है।

रक्तचाप को नियंत्रण में रखना किडनी बचाव के उपाय मे है ज़रूरी

कुछ ही लोगों को ये बात पता होंगी की उच्च रक्तचाप से हार्ट अटैक, ब्रेन अटैक जैसी समस्या ही नही बल्कि किडनी खराब होने की भी संभावना हो सकती है।

उच्च रक्तचाप में रक्त का दबाव बढ़ जाता है। दबाव की इस वृद्धि के कारण रक्त वाहिकाओं को काफी नुकसान होता जिस कारण किडनी की कुछ रक्त वाहिका मुत हो जाती है जो किडनी खराब होने का कारण भी बन सकती है।

इस लिए रक्तचाप को नियंत्रण में रखने का सबसे अच्छा उपाय यही है की नियमित रूप से इस की जाँच करवाते रहे और दवाई समय पर ले और साथ ही हर 3 साल मे एक बार किडनी की जाँच ज़रूर करें।

यूरिन इन्फेक्शन से बचाव भी है किडनी बचाव के उपाय

यूरिन इन्फेक्शन जिसे यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन या आम बोल चाल मे यूटीआई भी कहते हैं, इस का समय पर इलाज नही करने से ये किडनी तक फैल सकता है और इस के बैक्टेरिया आप की रक्त कोशिकाओं पर असर डाल सकते हैं जो आगे जा कर किडनी खराब होने का कारण भी बन सकता हैं।

ईस से बचाव के लिए बहोत ज़्यादा समय तक पेशाब को ना रोके साफ सफाई का पुरा ख्याल रखे और पेशाब मे जलन होने पर तुरंत डॉक्टर से परामर्श करे।

यूरिन इन्फेक्शन होने पर मूत्राशय के अंदर बैक्टेरिया जमा हो जाते हैं, इसलिए हो सके तो ज्यादा से ज़्यादा पानी पिए इस से बैक्टेरिया मूत्र के माध्यम से बाहर निकल जाते है और पेशाब मे जलन भी कम हो जाती है।

मोटापे को नियंत्रित रखना भी हैं किडनी बचाव के उपाय

रोचक बात तो ये है की 95% लोग यही मानते है की मोटापे से किडनी का कोई संबंधन नही है, लेकिन वह ये बात भूल जाते है की मोटापे के कारण ही उच्च रक्तचाप और मधुमेह की समस्या होती हैं।

याद रखे मोटापे के कारण उच्च रक्तचाप और मधुमेह की समस्या उत्पन्न होती हैं और ये दोनों रोग ही किडनी खराब होने के मुख्य कारण हैं।

इसलिए खुद को फिट रखे, हर रोज़ व्यायाम और योग करे हो सके तो पानी ज़्यादा से ज़्यादा पिए ताकि आप की किडनी के साथ ही आपका शरीर भी स्वस्थ रहे।

किडनी बचाव के उपाय मे इन बातो का रखे खयाल

चेहरे,हाथ और पैरों पर सुजन आने पर किडनी विशेषज्ञ से संपर्क करे।

पेट या पीट मे कमर के उपर और पसली के नीचे दर्द होने पर डॉक्टर द्वारा डिडनी की जाँच ज़रूर करे।

नींद की गोलियां, पेन किलर गोलियां और एंटीबायोटिक गोलियां का सेवन ना करे।

इस बात का पुरा ध्यान रखे की ज़रूरत से ज्यादा नमक या मीठे का सेवन ना करे।

समय समय पर रक्त चाप और मधुमेह की जाँच ज़रूर करा ले।

पेशाब को रोक कर रखने की आदत छोड़ दें। 

पर्याप्त आराम न करना भी इस का मुख्य कारण है हो सके तो रात मे 8 से 10 घंटे आराम करे।

आशा करते है की आप किडनी बचाव के उपाय के बारे मे सारी बातें समझ चुके होंगे अगर आप हम से और अधिक जानकारी चाहते है तो आप अपने प्रशन हमें कॉमेंट कर के बता सकते है।

और साथ ही आप इस लेख को अपने whatsapp ग्रूप, फेसबुक और सभी सोशल साइट पर साझा भी करे ताकि बाकी लोग भी किडनी बचाव के उपाय जान सके और इस से दूसरे लोगों की भी मदद हो। धन्यवाद।



Reactions

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ